दिल्ली देश मध्य प्रदेश

क्यों 72 प्रतिशत बलात्कार बच्चियों से जुड़े होते है।

मुंबई:- मुंबई में 2016 के अंदर रैप के 628 मामले सामने आये थे,जिसमे 455 मामले नाबालिग बच्चियों से जुड़े थे। यानी 72 प्रतिशत रैप के मामले बच्चियों से जुड़े है। इसका प्रमुख कारण है पिछले कुछ समय में समाज की मानसिकता में आई विकृति। मुंबई के अंदर कुछ समय से अपराधों की संख्या भी स्थिर रही है।
अपराध न तो बड़े है ना ही काम हुई 2012 में 7 प्रतिशत दोषियों को  सजा मिली थी लेकिन अब बढ़कर 19 प्रतिशत दोषियों को सजा मिली लेकिन यह अभी भी बहुत कम है। ऐसा हो रहा है की अगर रैप के 10 मामले सामने आते है तो उसमे से 7 बच्चियों के साथ के होते है जो पोक्सो दर्ज होते है। इनमे ज्यादातर मामलो में पीड़ित और आरोपी आपस में परिचित या रिश्तेदार होते है।
ऐसा माना जा रहा है की इस समय समाज में माता पिता या अभिभावक बच्चो का पहले जैसा ध्यान नई रखते। वे यह नहीं देखते की उनके बच्चे कहा जा रहे है क्या कर रहे है उनके ऊपर किस की निगाहे है जब हम नहीं होते तो वह किससे मिलते है। वर्ष 2012-13  से लेकर 2016-17 के बीच महिलाओं के खिलाफ अपरधो में 96 प्रतिशत बड़ोतरी हुई है और छेड़छाड़ के मामले में 165 प्रतिशत बड़ोतरी हुई है।