उत्तर प्रदेश दिल्ली

ब्रेकफास्ट बना स्कूल के 200 बच्चों की बीमारी का कारण।

नोएडा के एक सबसे बड़े स्कूलों में से एक स्कूल के बच्चो की मॉर्निंग ब्रेकफास्ट खाकर अचानक से हुयी 200 बच्चो की तबीयत ख़राब और फिर जल्द से जल्द बच्चो के पेरेंट्स को कॉल और मेसेज भेजे गए और बाकि बच्चो की छुट्टी होने से पहले ही छुट्टी करदी गई। यहाँ सभी पड़ने वाले बच्चो को ब्रेकफास्ट और लंच दिया जाता था लेकिन स्कूल ने सिर्फ और सिर्फ 20 बच्चो के ही बीमार होने की शिकायत की है। और इतनी बड़ी घटना होने के बाद भी स्कूल मैनेज मेन्ट ने जिला प्रशासन की टीम को कैंपस के अंदर तक नहीं आने दिया गया।

सिटी मजिस्ट्रेट  के अनुसार 200 से भी ज्यादा बच्चे अलग अलग अस्पतालों में भर्ती कराये  गए है और कुछ बच्चो का इलाज घर पर ही हो रहा है और बच्चो से पूछने के बाद और कुछ जांनकारी लेने के बाद पता चला की ब्रेकफास्ट के बाद बच्चो के पेट में दर्द उलटी और चक्कर आने की शिकायत करने लगे।  बच्चो को सुबह ब्रेकफास्ट में स्कूल की और से 9 बजे  आलू की सब्जी और अजवायन का पराठा दिया गया था इसे खाते ही बच्चे बीमार होने लगे और फिर 12:30 बजे स्कूल की और से बच्चो के पैरेंट्स को कॉल और मेसेज करके कहा गया की बच्चे की तबीयत बिगड़ रही है
उसे आकर लेजाओ। पेरेंट्स परेशान होकर जल्द से जल्द स्कूल आये और और कहा की हम स्कूल में अपने बच्चे के साल में 4 लाख रूपये देते  है फिर भी स्कूल ने हमारे बच्चो को इतना घटिया किस्म का खाना दिया गया  स्कूल में 2300 बच्चे पड़ते है और हर बच्चे के स्कूल वाले 5000 रूपये हर महीने लेते है  सेक्टर 15 ए में रहने वाली वंदना शर्मा ने बताया की मेरे तीन बच्चे इस स्कूल में पड़ते है और में साल के 13 लाख रुपये देती हूँ  और कभी घर का खाना अपने बच्चे को देना हो तो भी स्कूल की परमिशन पहले लेनी पड़ती है