दिल्ली देश शहर और राज्य

स्टूडेंटों ने सीबीएसई चेयरपर्सन अनीता करवल को हटाने की मांग की।

12वी के स्टूडेंटों ने की मांग दोबारा एग्जाम ना हो।

स्टूडेंटों ने किया शुक्रवार को सीबीएसई के खिलाफ प्रदर्शन सुबह सुबह ही स्टूडेंट पहुंचे सीबीएसई ऑफिस प्रीत विहार और काफी देर तक  विरोध किया। और स्टूडेंटों के विरोध करने पर विकाश मार्ग पर लगा जाम फिर ट्रेफिक पुलिने जाम को कड़कड़डूमा की और डाईवर्ट किया।
और फिर स्टूडेंट और पेरेंट्स पहुंचे सीबीएसई  हैड ऑफिस और फिर 12वी के स्टूडेंटों की मांग थी की दोबारा री-एग्जाम न हो। और विरोध करते हुए स्टूडेंटों ने कहा की पेपर लीक की खबर सीबीएसई के पास पहले दिन से ही आ रही थी लेकिन सीबीएसई ने पेपर लीक के मामले अनदेखी की 10वि  और 12वी दोनों ही क्लासो के पेपर लीक हुआ है किसी ने पैसे देकर पेपर ख़रीदा तो किसी को व्हाट्सअप पर पेपर मिला लेकिन जो स्टूडेंट महनत करते है।
उन्हें तो सीबीएसई की लापरवाही की सजा भुकतनी पड़ रही है और पैरेंट्स का कहना है की कितने कोचिंग सेंटरों पर तो एक रत पहले ही पेपर व्हाट्सअप आ गया था और फिर स्टूडेंटों ने सीबीएसई चेयरपर्सन अनिता करवाल  को हटाने की भी की मांग। और फिर दूसरी तरफ एनएसयूआई ने भी 10वी और 12वी के स्टूडेंटों के सात मिलकर उद्दोग भवन मेट्रो स्टेशन पर एचआरडी मिनिस्ट्री के खिलाफ विरोध किया।
और दिल्ली की यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट यूनियन प्रेजिडेंट रॉकी और टुसीद नेशनल प्रजिडेंट फ़िरोज़ खान भी शामिल थे और स्टूडेंटों मांग की अनीता करवल को हटाने की और स्टूडेंटों ने कहा ही हम दोबारा  री-एग्जाम देना नहीं चाहते।