दिल्ली देश शहर और राज्य

जी टी बी अस्पताल की लापरवाही का ख़ामियाज़ा भोगेगी की प्रियांशी।

नई दिल्ली:- जी टी बी अस्पताल दिल्ली के नामी गिरामी बड़े अस्पतालों में शामिल जी टी बी में की गई एक बड़ी गलती दो साल की प्रियांशी जो की सीढ़ियों से गिरने के कारण उसका  कुल्हा टूट गया था लेकिन जी टी बी अस्प्ताल के डाक्टरों ने कहा कि दाहिने पैर में मामूली सा फ्रैक्चर है और उसके पैर पर प्लास्टर चढ़ा दिया।और उसे  घर भेज दिया। 21 दिन बाद प्लास्टर हटा दिया और फिर से एक्सरे तक नहीं कराया डाक्टरों की लापरवाही के कारण साढ़े ३ महीने बाद भी प्रियांशी ठीक तरह से बैठ भी नहीं पा रही है। अस्पताल प्रशासन के आलावा स्वास्थ्य विभाग में इसकी शिकायत की गयी है इसके बाद अस्पताल के निर्देशक डॉ सुनील कुमार का कहना है। की आगे की तहकीकात की जाएगी लेकिन रिपोर्ट कब तक आएगी इस पर कुछ तक नहीं कहा उन्होंने।

प्रियांशी का 21 दिन बाद उसका प्लास्टर हटा दिया और कहा कि २५ दिन बाद यह पूरी तरह ठीक होजायेगी  लेकिन मासूम एक महीने बाद भी नहीं बैठ नहीं पा रही थी २५ जनवरी को परिजन अस्पताल लेके पहुंचे सेंट् स्टीफन के डॉ ने वहाँ प्रियांशी का कुल्हा टूटने की बात कही और कहा की अगर इसका ओप्रशन २४ घंटे के अंदर हो जाता तो ये अब तक बिलकुल ठीक हो जाती और वहाँ इस बार तीन महीने का प्लास्टर चढ़ा दिया और कहा की प्रियांशी का कुल्हा पूरी तरह ठीक होने की संभावना कम है और उन दो डॉ के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने को कहा १६ फरवरी को ही शिकायत दी थी लेकिन इस मामले में कुछ बताया गया।