दिल्ली देश शहर और राज्य

12 वी इकोनॉमिक्स का री-एग्जाम होगा 25 अप्रैल को।

सीबीएसई ने स्टूडेंटों  के बीच दबाओ में आकर किया 12वी के इकोनॉमिक्स के पेपर की डेट का  ऐलान 25 अप्रैल को होगा 12 वी के इकोनॉमिक्स का पेपर और एच आर डी मिनिस्ट्री के सेक्रेटरी (स्कूल एजुकेशन) के अनिल स्वरूप ने ऐलान किया की ये 12 वी इकोनॉमिक्स का री-एग्जाम दोबारा पुरे देश में होगा।
लेकिन अभी तक की जांच में ये नहीं पता चला है की 10 वि का री-एग्जाम होगा या नहीं लेकिन अभी तक जांच चल रही है। 10 वी के स्टूडेंटों को 15 दिन में पता चाल जायेगा की मेथ्स का पेपर दोबारा गोगा या नहीं और सारी जाचो के बाद  अगर जरुरत पड़ी तो केवल दिल्ली NCR और हरयाणा में ही 10 वी के मेथ्स का री-एग्जाम होगा।
और अगर री-एग्जाम हुआ तो वो भी जुलाई में होगा क्योंकि इसके राष्ट्रीय स्तर पर पेपर लीक होने का अभी तक कोई भी सुराग नहीं मिला है। लेकिन मेथ्स के दोबारा एग्जाम होने या ना होने की वजहा से स्टूडेंट और पेरेंट्स अभी तक उलझन में है स्टूडेंट और पेरेंट्स को समज नहीं आ रहा है की क्या करें। और इस बात से 11 वी के सेसन को लेकर देरी का डर भी सता रहा है।
हलाकि सीबीएसई के चेयरमेन ने रिजल्ट को देरी से इनकार किया है। सेक्रेटरी का कहना है की सिर्फ दिल्ली और हरयाणा में 10 वी का पेपर लीक होने का दवा क्योंकि पुलिस जांच में सही नहीं दिकता। झारखण्ड में भी १० वी के पेपर लीक में स्टूडेंटों पर FIR दर्ज हुई है और कुछ स्टूडेंटों को पुलिस ने पटना से भी अपनी गिरफ्त में लिया है और दिल्ली पुलिस का कहना है की 10 व्हाट्सअप गुरुपस से पेपर को देश भर में फैलाया गया है।

नाराज स्टूडेंटों ने किया जावड़ेकर के घर प्रदर्शन

पेपर लीक होने की वहज से और दोबारा एग्जाम होने की वजह से स्टूडेंटों ने सीबीएसई ऑफिस और उधोग भवन और जावड़ेकर के घर के सामने स्टूडेंटों ने नाराजगी जताते हुये किया प्रदर्शन।

दिल्ली पुलिस ने की एक पब्लिक स्कूल के तीन टीचरों से पूछताछ।

दिल्ली पुलिस ने जांच करते करते लीक पेपर का पता लगाने के लिए आउटर  दिल्ली के एक पब्लिक स्कूल के तीन टीचरों से भी की पूछताछ की है क्योकि इनके व्हाट्सअप पर भी पेपर से पहले लीक पेपर आ गया था और अब तक पुलिस ने 60-65 लोगो से पूछताछ  की है